titanic history in hindi. टाइटेनिक जहाज के बारे में 35 रोचक तथ्य।

नमस्कार, आज में आपको titanic history in hindi के बारे में जानकारी बताने वाला हूँ। वो टाइटेनिक जिसे कभी ना डूबने वाला जहाज बताया गया था! वो टाइटेनिक, जो अपनी पहली यात्रा के साथ कई रहस्य छोर गई। वो टाइटेनिक जो अपने समय का सबसे बड़ा जहाज में से एक था। कोई सोच भी नहीं सकता था, टाइटेनिक अपनी पहली यात्रा भी पूरा नहीं कर पायेगा। 1912 ईस्वी 1517 लोगो की आखरी वर्ष साबित होने वाली थी लेकिन इसका अंदाजा किसी को नहीं था। तो चलिए titanic history in hindi को देखते है।

titanic history in hindi.टाइटेनिक के बारे में 35 रोचक तथ्य।

titanic history in hindi. टाइटेनिक जहाज के बारे में 35 रोचक तथ्य।
titanic history in hindi

1. टाइटेनिक जहाज का निर्माण इंग्लैंड के द्वारा किया गया था। इस जहाज का पूरा नाम RMS titenic (Stands For Royal Mail Ship) था।

2. इस जहाज का निर्माण कार्य 1909 ईस्वी में ही शुरू हो गया था। जो 1912 में पूरी तरह से बन के तैयार भी हो गया था। इस जहाज को बनाने में 3000 से भी अधिक मजदुर को लगाया गया था।

3. टाइटेनिक एक विशालकाय जहाज था। ये जहाज 882 फिट लम्बा था यानि की करीब तीन फुटबॉल मैदान को जोर दिया जाये उतना लम्बा था। वही इसकी हाइट की बात की जाये तो इसकी हाइट इतनी ज्यादा थी की, उस समय इतनी ऊँची कोई बिल्डिंग भी नहीं थी। इसकी हाइट करीब 17 मंजिला ईमारत इतना ऊँची थी। इससे आप अंदाजा लगा सकते है, कितनी बड़ी जहाज होगी।

4. टाइटेनिक को पूरी तरह बनाने में 48 करोड़ रूपए लगे थे।

5. आपको बता दे, टाइटेनिक जहाज का उद्घाटन 31 मई 1911 को हुआ था। जिसको देखने एक लाख से भी अधिक लोग आये थे।

6. इस जहाज में 4 चिमनी लगी हुई थी जिसमे से सिर्फ 3 चिमनी ही कार्य करती थी चौथी चिमनी सिर्फ बैलेंस बनाए के लिए बनाया गया था।

7. इस जहाज में एक स्विमिंग पूल, एक जीम, 2 लाइब्रेरी तथा कई रेस्टुरेंट बनाये गए थे।

8. टाइटेनिक 10 अप्रैल 1912 को इंग्लैंड के साउथम्पटन से न्यूयॉर्क की तरफ अपनी प्रथम और अंतिम यात्रा के लिए निकल परे थे। इस जहाज में करीब 2200 लोग सवार थे। जिसमे से 1500 यात्री और 700 क्रू मेंबर थे।

9 . आपको बता दे की टाइटेनिक नॉर्थ फ़्रांस और आयरलैंड दो जगह रुका भी था। अब टाइटेनिक में बैढे यात्री धीरे धीरे मौत के तरफ जा रहे थे, दिन था 14 अप्रैल टाइटेनिक अपने यात्रा के चौथे दिन में प्रवेश कर चुका था, अभी तक सब ठीक चल रहा था। अचानक रात के 11 बजकर 40 मिनट पे टाइटेनिक के एक ऑफिसर को एक विशालकाय बर्फ का टुकड़ा दिखाई परता है। वो तुरंत जहाज को बायीं तरफ मोरने को कहते है , लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी, उनके पास मात्र 30 से 35 सेकंड ही बचे थे। वो जहाज को मोर तो दिए लेकिन जहाज आइसबर्ग के इतने करीब आ चुके थे, की वो उस हादसे को टाल नहीं सके।

10. अगर क्रू मेंबर के पास दूरबीन होता तो सायद इस दुर्घटना को टाला जा सकता था। उस दिन संजोग इतना ख़राब था की जिस लॉकर में दूरबीन रखी हुई थी उस लॉकर की चाभी कही गुम हो गई थी। टाइटेनिक जहाज का कप्तान एडवर्ड स्मिथ थे इस घटना में वो भी नहीं बच पाए।

11. इस विशालकाय जहाज को पूरी तरह डूबने में करीब 2 घंटा 40 मिनट का समय लगा था। आप खुद इस बात को सोच के देखिये वो 2 घंटा 40 मिनट यात्रियों के लिए कैसा होगा।

12. टाइटेनिक जहाज इतने विशाल और वजनदार थे की उस iceburg से टकराने के बाद दो हिस्सों में विभाजित हो गया था।

13. जब टाइटेनिक डूब रहा था उस समय केलिफोर्निया नाम का जहाज उसके नजदीक था लेकिन wirless network को क्षति पहुँचने के कारन उस जहाज तक सिग्नल नहीं पहुंच पा रहा था। अगर सिग्नल पहुंच जाता तो बहुत लोगो की जान बचाई जा सकती थी।

14. एक रिपोर्ट के मुताबिक इस जहाज में 20 लाइफ वोट थे। अगर इस लाइफ वोट में सही तरीके से आदमी अर्जेस्ट होते तो और अधिक जान बचाई जा सकती थी। लेकिन सभी वोट में थोड़ा- थोड़ा करके आदमी भेजे गए थे।

15. इस घटना में करीब 1517 लोगो को जान गवानी परी थी। वही करीब 700 लोगो को बचाया जा सका था। इस जहाज में 9 कुत्ते भी मौजूद थे जिसमे से 2 कुत्तो को बचा लिया गया था।

16. इस टाइटेनिक जहाज में 26 ऐसे नवविवाहित जोड़े थे जो हनीमून के लिए जा रहे थे, पर अवशोष वो बच नहीं सके।

17 . क्या आपको पता है इस जहाज में एक बेंड ग्रुप को भी रखा गया था, जो लोगो के मन को शांत करने के लिए टाइटेनिक के डूबने तक गाना बजा रहे थे।

18 . टाइटेनिक जहाज में रोज 885 टन कोयला का इस्तेमाल किया जाता था। और प्रत्येक दिन करीब 100 टन से भी अधिक राख को निकाल के फेकना परता था।

19 . इस जहाज में प्रत्येक दिन करीब 1400 से 1500 गैलन पिने का पानी 40000 हजार अंडे 1400 गैलन दूध खर्च होता था।

20 . इस जहाज में यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए तीन श्रेणी बनाई गई थी। जिसमे प्रथम श्रेणी का टिकेट का मूल्य 4350 डॉलर अगर अभी के हिसाब से देखा जाये तो करीब 330000 रुपये होता है ,वही द्वितीय श्रेणी की बात की जाये तो 60 डॉलर था जिसकी वेल्यू वर्तमान में करीब 4560 रूपए होता है। वही तृतीय श्रेणी के यात्रियों को 30 डॉलर यानी 2250 रूपए चुकाना परता था!

21 . प्रथम श्रेणी के यात्रियों को विशेष सुविधा दी जाती थी। उनके लिए कई तरह के बियर के बोतल, शराब का बोतल और सिगार मौजूद था।

22 . आपको जानकारी के लिए बता दे की जिस Iceburg से टकराया था वो करीब सौ फिट ऊँचा था। और ये करीब 3000 साल से समुन्द्र में तैर रहा था।

23. आपको जानकर हैरानी होगा, करीब 73 वर्ष बाद 1985 में विशालकाय टाइटेनिक जहाज के मलबे को खोज निकाला गया है।

24. यह मलबा समुन्द्र में करीब 12600 फुट अंदर में मिला है। यह मलबा गलने लगा है। इस मलबे में काफी जंग लग चूका है।

25. इस मलबे को 1985 ईस्वी पे प्रथम बार देखने वाले शख्स रॉबर्ट बलार्ड और उनकी टीम थी

26. 2019 में Oshanget कंपनी ने कुछ लोगो को मलबे के करीब ले जाने के लिए एक मिशन तैयार किये थे। इस मिशन के लिए कई देशो से आवेदन किये गए थे।

27. इसमें 11 दिन तक लोगो को घुमाया जायेगा इन्हे पनडुब्बी के द्वारा ले जाया जायेगा। इस मिशन पे जाने वाले लोगो को 70 से 80 लाख रुपये चुकाने परे थे।

28. इस घटना पे एक फिल्म टाइटेनिक भी बन चुकी है इस फिल्म को बनाने में करीब 1333 करोड़ रूपए लगे थे। जो टाइटेनिक जहाज के बजट से कई गुना ज्यादा है।

29. इस फिल्म के डयरेक्टर जे कैमरन थे। यह फिल्म अवतार के बाद दूसरी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली मूवी है। इस मूवी ने करीब 1.8 अरब डॉलर की कमाई की थी।

30. यह मूवी 11 ऑस्कर पुरस्कार जित चुकी है।

31. इस जहाज में एक 2 महीने की बच्ची भी थी जिसको बचा लिया गया था। 97 साल की उम्र में 2009 ईस्वी में उनकी मृत्यु हुई।

32. आपको जानकारी के लिए बता दे की टाइटेनिक जहाज को बनाने वाले मजदुर को 5 डॉलर सप्ताह दिया जाता है।

33. टाइटेनिक में एक तगड़ी सिटी लगाई गई थी जिसकी आवाज करीब 16 किलोमीटर दूर तक सुनाई देती थी।

34. इस दुर्घटना में एक जापानी भी बच गए थे। ये जब अपने देश गए तो वहा के लोग उन्हें कायर कह के बुलाने लगे क्यूंकि वो उनलोगो के साथ नहीं मरे।

35. ऐसा बताया जा रहा है की आने वाले 20 से 30 सालो में टाइटेनिक का मलबा पुरे तरीके से गल जायेगा क्यूंकि इस मलबे पे पुरे तरीके से जंग ने कब्ज़ा कर लिया है।

तो आपको Titenic से जुड़ी यह जानकारी कैसी लगी। अगर अच्छी लगी तो दोस्तों को जरूर शेयर करे। धन्यबाद

इसे भी पढ़े

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *