mother teresa in hindi. मदर टेरसा से जुड़ी 25 रोचक तथ्य।

नमस्कार, एक बार फिर से hindiwebdunia में आप सभी का स्वागत है। यह महत्वपूर्ण नहीं है आपने कितना दिया, बल्कि यह महत्वपूर्ण है की आप देते समय कितना प्रेम से दिए। ये शब्द महान समाज सेविका मदर टेरेसा का है। शायद उन्हें इस धरती पर गरीब तथा लाचार लोगो की सेवा के लिए ही भेजा गया था। मदर टेरेसा अपना पूरा जीवन समाज सेवा में बिता दिए।आज पूरी दुनिया को ऐसे ही महान लोगो की जरुरत है। वो भारत के नहीं थे, इसके बावजूद वो भारत को बहुत कुछ दे गए। मदर टेरेसा के द्वारा स्थापित चैरिटी आज पुरे दुनिया में गरीब तथा असहाय लोगो की सेवा में लगी हुई है। तो चलिए मदर टेरेसा के बारे रोचक तथ्य जानते है। mother teresa in hindi

mother teresa in hindi. मदर टेरसा से जुड़ी 25 रोचक तथ्य।

mother teresa in hindi

1. मदर टेरेसा का जन्म 26 अगस्त 1910 को मेसेडोनिया गणराज्य की राजधानी स्कोप्जे में एक कैथलिक परिवार में हुआ था।

2 उनका असली नाम एगनेस गोंझा बोयाजिजु था। अल्बेनियम भाषा में गोंझा का मतलब ‘फूल की कली’ होता है।

3. उनके पिता का नाम निकोला बोयाजू तथा माता का नाम द्राना बोयाजू था। उनके पिता एक साधारण व्यवसायी थे।

4. मदर टेरेसा की एक बहन तथा एक भाई था। इन सब में मदर टेरेसा सबसे छोटी थी।

5. मदर टेरेसा जब 8 साल की थी उसी समय उनके पिता का देहांत हो गया जिसके बाद उनकी माँ ने मदर टेरेसा का पालन पोषण किया।

6. मदर टेरेसा जब 12 साल की थी तभी वो सोच ली थी की, अपना पूरा जीवन समाजसेवा में लगाएंगी।

7. मदर टेरेसा जब 18 साल की थी, तब वो सिस्टर्स ऑफ़ लोरेटा में शामिल होने का मन बना ली थी लेकिन उसके लिए उन्हें अंग्रेजी सीखना जरुरी था क्यूंकि लोरेटो की सिस्टर अंग्रेजी माध्यम में बच्चो को भारत में पढ़ाती थी।

8. इसके बाद उन्होंने आयरलैंड से अंग्रेजी शिक्षा ग्रहण करने के बाद सन 1929 ईस्वी में कोलकाता में लोरेटो कॉन्वेंट पहुँची।

9. मदर टेरेसा एक बहुत ही अच्छी और अनुशासित शिक्षिका साबित हुई। उनसे विद्यार्थी काफी खुस रहते थे। यही कारन है की 1944 ईस्वी में उन्हें हेडमिस्ट्रेस बना दिया गया।

10. मदर टेरेसा 1946 ईस्वी में पटना के HOLY FEMLAY HOSPITAL से नर्स की ट्रेनिंग पूरी की। इसके बाद वापस कोलकाता आ गई।

11. 7 अक्टूबर 1950 ईस्वी को मदर टेरेसा ने कोलकाता में मिशनरीज ऑफ़ चैरिटी की स्थापना की। आपको जानकारी के लिए बता दे, मिशनरीज ऑफ़ चैरिटी रोमन कैथोलिक स्वयंसेवक धार्मिक संगठन है। जो सभी देशो में मानवीय कार्य से ज़ुरा हुआ है।

12. आपको जानकारी के लिए बता दे मिशनरीज ऑफ़ चैरिटी की स्थापना केवल 12 सदस्यों के द्वारा किया गया था।

इसे भी पढ़े स्टीफेन हॉकिंग के बारे में 20 रोचक तथ्य

13. वर्तमान समय में यह संगठन 133 देशो में अपना कार्य कर रही है। जो गरीब और असहाय लोगो की सेवा कर रही है। जिसमे 4500 से भी अधिक सिस्टर अपना कर्तव्य निभा रही है

14. इस संस्था का मुख्य उदेश्य ऐसे लोगो की सहायता पहुँचाना था जो शारीरिक रूप से दिव्यांग, भूखे, निवस्त्र, बेघर, या फिर किसी रोग से ग्रसित हो।

15. इसके बाद वर्ष 1952 में मदर टेरेसा ने निर्मल हृदय आश्रम की शुरुआत की जिसमे गरीब और असहाय लोगो को निशुल्क मेडिकल ट्रीटमेंट दी जाती थी। इसके कुछ समय बाद वो कुष्ठ रोगियों के लिए शांति नगर नामक एक अस्पताल भी खोली।

16. क्या आप जानते है, मदर टेरेसा खुद अपने हाँथो से लोगो की मरहम पट्टी करती थी।

17. कुछ समय बाद उन्होंने निर्मल शिशु भवन की स्थापना की, जिसमे गरीब बच्चो को निशुल्क शिक्षा दी जाती है।

18. आपको जानकारी के लिए बता दे, मदर टेरेसा करीब 40 साल तक लोगो की सेवा की इसके बाद 5 सितम्बर 1997 ईस्वी को 87 साल के उम्र में उनका हार्ट अटेक के कारन निधन हो गया। उस समय पुरे विश्व में शोक की लहर दौर गई थी।

19. आपको जानकारी के लिए बता दे इससे पहले भी इनको दो दफा वर्ष 1983 तथा 1989 में दिल का दौरा पर चूका था।

20. क्या आप जानते है पोप फ्रांसिस ने मदर टेरेसा को संत की उपाधि दे चुकी है।

21. मदर टेरेसा को भारत सहित कई अन्य देशो की भी नागरिकता प्राप्त है, जिसमे सर्बिया, ऑटोमन, बुल्गेरिया, युगोस्लाविया शामिल है।

22. मदर टेरेसा को अतुल्य कार्य के लिए वर्ष 1962 में पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया इसके बाद 1979 ईस्वी में नोवल पुरस्कार से सम्मानित किया गया, इसके एक साल बाद यानि की 1980 ईस्वी में उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

23. इसके अलावा भी उन्हें कई देशो से बहुत सारा पुरस्कार मिल चूका है।

24. मदर टेरेसा को पुरस्कार के साथ जो सम्मान राशि मिलती थी, वो उसे भी गरीब तथा असहाय लोगो के लिए ही इस्तेमाल करती थी।

25. आपको जानकारी के लिए बता दे, मदर टेरेसा पर कई बार लोग आरोप भी लगा चुके है की, वो भारत में लोगो का धर्म परिवर्तन के लिए ऐसा करती है। उन्हें कुछ लोग ईसाई धर्म का प्रचारक मानते थे। लेकिन इन सब के वाबजूद मदर टेरेसा लोगो की सेवा करती रही। यही वजह है की आज उन्हें पूरा विश्व जानता है।

इसे भी पढ़े

नोट: अगर आपको Mother teresa  से जुड़ी रोचक तथ्य। Mother teresa in hindi पोस्ट अच्छी लगी हो तो ज्यादा से ज्यादा शेयर करे। ताकि औरो को भी जानकारी मिल सके। आप hindiwebdunia से जुरना चाहते है तो bel notification जरूर दबा ले ताकि जब भी पोस्ट डाला जायेगा, आपको जानकारी मिल जायेगा। आप अपना कीमती समय दिए इसके लिए आपका धन्यबाद।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *